Haan Main Tumhaare Liye Kuch Nahi Laai Hun (Hindi)

0 Comment(s)
1340 View(s)
|

:: What was in my mind ::
It is a composition to express a female's feeling about love. Love is a passion and from her childhood to elder age, in every span of life, her interest towards life and love changes. She preserves everything in her memories. She tries to connect all her love and passions together to build a beautiful life for her... Let her build dreams.... fly in fresh air.... do not panic her.... just let her live as she likes.... and be a human.

आँखों में जुगनू, मुट्ठी में धूप भर के लाई हूँ,
हाँ, मैं तुम्हारे लिए कुछ नहीं लाइ हूँ ...

अपनी सारी दुआएं, किस्मत के सारे तारे लाई हूँ,
हाँ, मैं तुम्हारे लिए कुछ नहीं लाइ हूँ ...

पहली बारिश की ख़ुशबू, अपनी पहली गुड़िया लाई हूँ,
हाँ, मैं तुम्हारे लिए कुछ नहीं लाइ हूँ ...

अपने अनदेखे सपने, सारी हँसी लाई हूँ,
हाँ, मैं तुम्हारे लिए कुछ नहीं लाइ हूँ ...

जिन किताबों में लिखा था तुम्हारा नाम और ईद का चाँद, लाई हूँ,
हाँ, सही कहा तुमने...... मैं तुम्हारे लिए कुछ नहीं लाइ हूँ ...

 2
 0
0 Comment(s) Write
1340 View(s)



0 Comments: