Mera Bhagya, Mera Karm (Hindi)

0 Comment(s)
1288 View(s)
|

When people say 'My luck is not powerful', I not able to understand why they are running behind a delusion. Luck has fascination and people do different types of remedy to make it good. Why don't they concentrate on their work with that much dedication, who will never deceive them, never run away from them. May be it will take time, but it will and only it can work...

नहीं-नहीं तुम नहीं हो नाथ, नहीं हो मेरे ईश्वर,
नहीं-नहीं तुम नहीं हो नाथ, नहीं हो मेरे ईश्वर।

बचपन से जो मेरे साथ खेला, मेरे साथ जागा और मेरे साथ सोया,
जिसने मुझे बढ़ाया और जीवन-दर्शन सिखलाया,
रास्ते में रोड़ा बन वो अड़ा नहीं, मेहनत करने पर वो जड़ा नहीं,
वो मेरे साथ रहा, मेरी हंसी में हँसा और मेरे दुःख में रोया,
जिसने मेरी हार पर मुझे संभाला और अगली जीत की ओर बढ़ाया,
जो संसार की सारी खुशियां, मेरे लिए बटोर कर लाया,
वो तुम न थे, कोई और था...

और जो तुम कहते हो खुद को ईश्वर,
तो तुम तब कहाँ रूठे थे,
जब पुकार रही थी मैं, झूझ रही थी इन तूफानों से,
जब सामना हो रहा था मेरा मौत से,
तब तुम किसी और पर मेहरबानी बरसाने में व्यस्त थे,
पर तब भी जो मेरे साथ था, वो तुम न थे, कोई और था...

और आज भी जिंदगी के इस मोड़ पर,
ओ भाग्य के छल-देवता ! क्या भरोसा, फिर छल जाओ,
आज साथ दो, तो कल वापिस न आओ,
लेकिन, मेरा कर्म मेरे साथ था, है और रहेगा,
वो मेरा है, तो मुझसे दूरी कैसे सहेगा,
मेरे जन्म से, मेरी मृत्यु तक और उसके बाद भी...
मेरे समस्त यश-अपयश, वेदना-संवेदना का कारण,
ईश्वर का दिया वो उपहार, जो मेरे हाथ में है,
वो तुम नहीं, कोई और है...

वो हाथ की लकीरों में नहीं, पर मेरे हाथ में है,
वो माथे की तकदीरों में नहीं, पर उससे बहते नमक के स्वाद में है,
वो मुझे जीने का और जी जाने का सुकून देता है,
वो मुझे कुछ कर जाने का जूनून देता है,
न वो खुद रुकता है, न मुझे रुकने देता है,
लेकिन भला ये है कि मुझे कभी नहीं झुकने देता है,
इसीलिए तुम नहीं हो मेरे नाथ... नहीं हो मेरे ईश्वर।

 1
 0
0 Comment(s) Write
1288 View(s)



0 Comments: